Hindi Speech On 26 January

(2022) Hindi Speech On Republic Day – गणतंत्र दिवस पर भाषण

Hindi Speech On 26 January: नमस्कार मित्रों !! हिंदी पूल में आपका स्वागत हैआपको पता ही होगा कि 26 january काफी करीब है और हमारा देश अपना 72वा गणतंत्र दिवस मनाने की तैयारी कर रहा है। गणतंत्र दिवस या Republic Day वह ऐतिहासिक दिन है जब हमारा देश भारत एक आजाद गणतंत्र देश बना था – इस दिन भारत का संविधान लागू हुआ था।

हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी इस त्यौहार को मानाने के लिए हर स्कूल में वार्षिक प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है और किसी भी प्रतियोगिता में Hindi Speech (स्पीच ) या भाषण को काफी अहमियत दी जाती है| अगर आप या आपका कोई परिचित ऐसे किसी competition में हिस्सा ले रहा है| तो यकीनन आपको 26 January Par Hindi Speech में स्पीच देने की आवश्यकता पड़ सकती है|

आपकी मदद के लिए हिंदीपूल ने कई Resources का इस्तेमाल कर आपके लिए भाषण की लिखी बनाई है| आप इस आर्टिकल से प्रेरणा ले कर Best Hindi Speech On Republic Day कंपटीशन की तैयारी कर सकते हैं|

इस Speech को हमने विभिन्न हिस्सों में बांटा है :-

पहले हम लोग 26 जनवरी के इतिहास के बारे में बात करेंगे उसके बाद हम लोग इस  के दिन आयोजित होने वाले कार्यक्रम के बारे में चर्चा करेंगे|

अगर आपको पसंद यह गणतंत्र दिवस पर भाषण पसंद आए तो कृपया इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर करें|

शुक्रिया|

2022 Hindi Speech On Republic Day – गणतंत्र दिवस पर भाषण

Introduction of 26 January

आदरणीय प्रधानाचार्य, शिक्षकों और मेरे प्यारे  दोस्तों

(यहाँ आप 26 जनवरी पर कोई लोकप्रिय नारे का इस्तेमाल कर सकते है| अगर आपको नारों की लिस्ट चाहिए तो आप हमारा ये 26 जनवरी पर नारे वाला ब्लॉग पढ़ सकते है )

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हम गणतंत्र दिवस के लिए यहां एकत्रित हुए हैं। इस शुभ दिन पर मैं अपने शिक्षकों का शुक्रगुजार हूं| जिन्होंने मुझे गणतंत्र दिवस के बारे में कुछ कहने का मौका दिया |

26 जनवरी का इतिहास : History of Republic Day

गणतंत्र दिवस केवल एक राष्ट्रीय अवकाश नहीं है। यह वह दिन है जब 1950 में  भारत सरकार अधिनियम (Govt of India Act) को प्रतिस्थापित करके भारत का संविधान लागू हुआ और  हमारा स्वतंत्र राष्ट्र गणतंत्र बना|

26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के लिए तारीख के रूप में चुना गया था क्योंकि यह 1929 में इस दिन था जब भारतीय स्वतंत्रता की घोषणा (पूर्ण स्वराज) को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा घोषित किया गया था|

वैसे तो भारत ने 15 अगस्त 1947 को भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के बाद ब्रिटिश राज से स्वतंत्रता प्राप्त कर ली थी लेकिन अभी तक हमारे पास एक स्थायी संविधान नहीं था; इसके बजाय हमारे 1935 के कानून संशोधित औपनिवेशिक सरकार अधिनियम (Collonial act – Govt Of India Act 1935)  पर आधारित थे|

29 अगस्त 1947 को,  एक  स्थायी संविधान का draft तैयार करने के लिए ड्राफ्टिंग कमेटी की नियुक्ति के लिए एक प्रस्ताव लाया गया | आगे जा कर इस ड्राफ्टिंग कमिटी के अध्यक्ष डॉ। बी आर अम्बेडकर  थे।

इस  समिति ने संविधान का एक draft तैयार किया और 4 नवंबर 1947 को सभा में प्रस्तुत किया|

इस ड्राफ्ट में कई बदलावों की जरूरत थी एक फाइनल ड्राफ्ट हिंदी और इंग्लिश में लाया गया जिस पर 308 असेंबली मेंबर्स ने 24 january को साइन किया

आख़िरकार  प्रस्तुति के दो साल, 11 महीने और 18 दिन बाद 26 जनवरी को पूरे देश में संविधान को लागू किया गया और डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद भारत के पहले प्रधानमंत्री बने|

26th Republic Day January Celebrations : गणतंत्र  दिवस समारोह

गणतंत्र दिवस भारत में बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है| हर साल रिपब्लिक डे का उत्सव समारोह हमारी राजधानी दिल्ली में हमारे राष्ट्रपति के सामने आयोजित किया जाता है| 

यह उत्सव तीन दिनों तक चलता है| 

राजपथ पर होने वाले इस समारोह में भारत की विविधता में एकता और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए आकर्षित परेड का आयोजन होता है| 

परेड का आयोजन भारत के रक्षा मंत्रालय द्वारा किया जाता है। यह परेड राष्ट्रपति भवन से शुरू होती है और इंडिया गेट के पास मार्च करती है .और भारत की रक्षा क्षमता सांस्कृतिक और सामाजिक विरासत को दर्शाता है।

नौसेना और वायु सेना के साथ भारतीय सेना की 9 से 12 अलग-अलग रेजिमेंटों अपने बैंड के साथ अपनी  आधिकारिक सजावट में मार्च पास्ट करते है| 

भारत के राष्ट्रपति, जो भारतीय सशस्त्र बलों के प्रमुख कमांडर हैं, वीर जवानों की सलामी लेते हैं | भारतीय सेना के अलावा इस परेड में पैरामिलिट्री फोर्स और पुलिस फोर्स भी हिस्सा लेती है | 

गणतंत्र दिवस समारोह के अंतिम दिन एक बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी (Beating retreat ceremony ) का आयोजन 29 जनवरी ज्ञानी रिपब्लिक डे के तीसरे दिन  किया जाता है भारतीय मिलिट्री की तीनों शाखाओं इंडियन आर्मी इंडियन नेवी और इंडियन एयर फोर्स अपने बैंड के साथ प्रस्‍तुति देति है| 

इस उत्सव के मुख्य अतिथि भारत के राष्ट्रपति हैं जो  पीपीबी (PPB) -जो  एक घुड़सवार इकाई है -द्वारा एस्कॉर्ट किए जाते हैं| 

जैसे ही राष्ट्रपति का आगमन होता है कमांडर अपनी यूनिट को नेशनल सैल्यूट करने की आदेश देते हैं और साथ ही आर्मी अपने मिलिट्री बैंड यूनिट के साथ नेशनल एंथम जना गण मना का गान करती है| 

इसके अलावा राष्ट्रपति हर साल भारत के नागरिकों को प्रतिष्ठित पद्म पुरस्कारों सहित कई पुरस्कार वितरित करते हैं | पद्म पुरस्कार भारत रत्न के बाद दूसरे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कार हैं. इन पुरस्कारों को तीन श्रेणियों में वर्गीकृत किया जा सकता है पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री | 

हमें आशा है की यह आर्टिकल Hindi Speech On 26 January Republic Day आपको पसंद आया होगा | अगर आपको किसी और Topic पर स्पीच चाहिए तो आप comment section का इस्तेमाल कर सकते है|

धन्यवाद |

Hindipool

Rahul हिंदी ब्लॉग इंडस्ट्री के प्रमुख लेखकों में से एक हैं, इनकी पढ़ाई-लिखाई, टेक्नोलॉजी, आदि विषय में असीम रूचि होने के कारण, इन्होने ब्लोग्स के जरिये लोगो की मदद करके अपना करियर बनाने का एक अनोखा एवं बेहतरीन फैसला लिया है|

View all posts by Hindipool →

Leave a Reply

Your email address will not be published.